Wednesday, July 17, 2024
spot_img
Homeराजनीतिविक्रमादित्य ने दिया जयराम को ओपन डिबेट का चैलेंज, क्या स्वीकार करेंगे...

विक्रमादित्य ने दिया जयराम को ओपन डिबेट का चैलेंज, क्या स्वीकार करेंगे पूर्व सीएम ?

सुंदरनगर। हिमाचल में चुनावी दंगल शुरू हो चुका है। जिसमें प्रदेश की दोनों बड़ी पार्टियों भाजपा और कांग्रेस के नेता पूरी तरह से कूद गए हैं। हिमाचल की सबसे हॉट सीट मानी जाने वाली मंडी संसदीय सीट पर चुनावी सरगर्मियां तेज हो गई हैं। एक तरफ कंगना तो दूसरी तरफ विक्रमादित्य एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं। इसी बीच कांग्रेस नेता और पीडब्ल्यूडी मंत्री विक्रमादित्य सिंह ने पूर्व सीएम जयराम ठाकुर पर जमकर प्रहार किए हैं। यही नहीं उन्होंने जयराम ठाकुर को खुली चुनौती भी दी है।

जयराम ठाकुर रक्षक नहीं भक्षक हैं

विक्रमादित्य सिंह ने तो जयराम ठाकुर को भक्षक तक कह दिया है और दोगली राजनीति करने के आरोप लगा दिए हैं। कांग्रेस प्रत्याशी ने आज मंडी जिला के सुंदरनगर में आयोजित एक कार्यकर्ता सम्मेलन में जयराम ठाकुर पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम जयराम ठाकुर मंडी के रक्षक नहीं बल्कि भक्षक हैं।

विक्रमादित्य ने जयराम ठाकुर पर दोगली राजनीति करने के लगाए आरोप

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि जयराम ठाकुर अपने ही गृह जिला में दोगली राजनीति कर रहे हैं। जनता की आवाज को दबाने का प्रयास करते हैं। उनकी यह दोहरी राजनीति कांग्रेस सहन नहीं करने वाली है।

जयराम ठाकुर को खुले मंच से दी चुनौती

विक्रमादित्य सिंह ने खुले मंच से जयराम ठाकुर को चुनौती देते हुए कहा कि भाजपा प्रत्याशी कंगना रनौत से डिबेट करने का कोई फायदा नहीं है, लेकिन वे जयराम ठाकुर के साथ ओपन डिबेट करने के लिए तैयार हैं।

यह भी पढ़ें : जासूस बने सुधीर शर्मा: सुक्खू सरकार के पहरे की खोल दी पोल- देखें

कांग्रेस सरकार ने 15 माह में दीं 22 हजार युवाओं को नौकरी

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि जयराम ठाकुर अकसर प्रदेश सरकार पर युवाओं को नौकरी ना देने के आरोप लगाते रहे हैं। मैं जयराम ठाकुर जी को बताना चाहता हूं कि हमारी कांग्रेस सरकार ने बीते 15 महीने में शिक्षा,जल शक्ति, वन सहित अन्य विभागों में रिकार्ड 22 हजार नौकरियां युवाओं को दी हैं।

यह भी पढ़ें : मुकेश बोले: मैं नहीं लड़ रहा चुनाव, आस्था को गगरेट से भी था ऑफर- किया इंकार

पीएम को शॉल टोपी पहना कर लौट आते हैं जयराम

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि हिमाचल में आई आपदा के समय जयराम ठाकुर दिल्ली जाते और पीएम मोदी को शॉल और टोपी पहना कर वापस लौट आते। उनमें दम नहीं था, जिसके चलते ही वह प्रदेश को आपदा प्रभावित राज्य घोषित नहीं करवा पाए।

यह भी पढ़ें: निर्दलीय विधायकों का दांव पड़ा उल्टा: चली जाएगी तीनों की विधायकी!

केंद्र से पैसा लाना भी एक कला है, जो मुझमें है। अगर जयराम ठाकुर प्रदेश को विशेष राहत पैकेज दिलवा पाते तो उसका फायदा सबसे अधिक मंडी जिला को होना था, लेकिन उन्होंने उसमें सबसे बड़ा अड़ंगा लगाया।

पेज पर वापस जाने के लिए यहां क्लिक करें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments