Wednesday, July 24, 2024
spot_img
Homeराजनीतिहिमाचल में बड़ा खेला: निर्दलीय MLA ने दिया इस्तीफ़ा, खतरे में सरकार!

हिमाचल में बड़ा खेला: निर्दलीय MLA ने दिया इस्तीफ़ा, खतरे में सरकार!

शिमला। हिमाचल प्रदेश की राजनीति में एक बार फिर बड़ा उलटफेर हुआ है। आज यानी शुक्रवार को हिमाचल की राज्यसभा सीट पर बीजेपी के प्रत्याशी को वोट देने वाले तीन निर्दलीय विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। यह तीनों निर्दलीय विधायक कांग्रेस के छह बागियों के साथ पिछले 25 दिनों से हिमाचल से बाहर थे। आज अचानक से यह तीनों विधायक हिमाचल विधानसभा पहुंचे और इन्होंने शिमला में विधानसभा सचिव को अपना इस्तीफा सौंपा दिया।

तीनों निर्दलीयों ने सचिव को सौंपा अपना इस्तीफा

इस्तीफा देने आए तीनों निर्दलीय देहरा से होशियार सिंह, हमीरपुर से आशिष शर्मा और नालागढ़ के विधायक केएल ठाकुर के साथ नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के अलावा अन्य बीजेपी नेता भी मौजूद थे। बताया जा रहा है कि यह तीनों विधायक दिल्ली से आज सुबह ही चार्टेड प्लेन से दिल्ली से सीधे शिमला पहुंचे थे।

कांग्रेस के छह बागियों की पहले ही रद्द की जा चुकी है सदस्यता

बता दें कि इससे पहले हिमाचल विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप पठानिया ने कांग्रेस के छह बागी विधायकों की विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी थी। जिसके चलते प्रदेश में लोकसभा चुनाव के साथ साथ छह सीटों पर विधानसभा के उपचुनाव की घोषणा भी की गई थी। लेकिन अब तीन निर्दलीय विधायकों के इस्तीफे के बाद अब हिमाचल में 9 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होंगे।

भगवा चोला पहन हिमाचल लौटेंगे सभी बागी

बता दें कि कांग्रेस के छह बागियों सहित तीन निर्दलीय पिछले काफी दिनों से दिल्ली में डटे हुए हैं। यह सभी बागी बीजेपी में शामिल होने वाले हैं। इसके लिए सभी ने पहले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से मुलाकात की थी। वहीं अब यह सभी लोग गृह मंत्री अमित शाह से भी मिल चुके हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि सभी विधायक जल्द ही बीजेपी का चोला पहन कर हिमाचल में आएंगे।

प्रदेश में लोकसभा के साथ 9 सीटों पर होंगे उपचुनाव

हिमाचल में अब छह कांग्रेसी विधायकों के साथ साथ तीन निर्दलीय विधायकों के भी उपचुनाव होंगे। इन चुनावों के बाद प्रदेश में राजनीतिक समीकरण बदलने वाले हैं। राजनीतिक जानकार उपचुनाव लड़वाने की संभावना का दांव चलने के नफा.नुकसान को आंकने में जुट गए हैं। लोकसभा के साथ विधानसभा के उपचुनाव के रिजल्ट आने के बाद प्रदेश में कांग्रेस की सरकार पर भी संकट के बादल छा सकते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments