Thursday, July 18, 2024
spot_img
Homeयूटिलिटीऑरेंज अलर्ट पर हिमाचल, बारिश,ओलावृष्टि और अंधड़ मचाएगा तबाही; रहें तैयार

ऑरेंज अलर्ट पर हिमाचल, बारिश,ओलावृष्टि और अंधड़ मचाएगा तबाही; रहें तैयार

Himachal Weather: शिमला। हिमाचल में आज से प्रदेश भर में मौसम बिगड़ने वाला है। इस दौरान जहां भारी बारिश होगी। वहीं ओलावृष्टि के साथ आंधी भी चलेगी। मौसम में यह बदलाव अगले सात दिन तक रहने वाला है। मौसम विभाग ने इस दौरान भारी बारिश के साथ बर्फबारी ओलावृष्टि और अंधड़ का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। मौसम में यह बदलाव पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से आएगा।

तीन दिन हो सकती है तबाही

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला की मानें तो प्रदेश भर में 13 से 15 अप्रैल 72 घंटे तक स्ट्रांग वेस्टर्न डिस्टरबेंस एक्टिव रहेगा। जिसे देखते हुए विभाग ने तीन दिन के लिए बारिश, तूफान और ओलावृष्टि का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

15 से 18 अप्रैल तक ऊंचाई वाले क्षेत्रों किन्नौर, लाहौल-स्पीति सहित शिमला, मंडी, कुल्लू और चंबा के कुछ क्षेत्रों में बर्फबारी की संभावना है। अन्य जिलों में बारिश के आसार हैं। कुछ क्षेत्रों में ओलावृष्टि और अंधड़ चलने का पूर्वानुमान भी है।

बारिश ओलावृष्टि और अंधड़ का अलर्ट जारी

मौसम विभाग ने प्रदेश भर में 16 अप्रैल के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। 16 अप्रैल से अगले चार दिन तक मानसून थोड़ा कमजोर रहेगा, लेकिन इस दौरान भी कई क्षेत्रों में बारिश की संभावना है। 19 अप्रैल को भी प्रदेश के कई क्षेत्रों में धूप निकलेगी। लेकिन कुछ क्षेत्रों में बारिश के साथ ओलावृष्टि और अंधड़ चलने का अनुमान है।

धर्मशाला के आसपास के क्षेत्रों में तुफान ने डराए लोग

वहीं राजधानी शिमला सहित प्रदेश भर में बीते रोज को भी अच्छी धूप खिली रही। जबकि आज कुछ एक स्थानों पर भारी बारिश का अनुमान है। धर्मशाला और इसके आसपास के क्षेत्रों में भी आसमान में बादल छाए हुए हैं और तेज हवाएं चल रही हैं। कांगड़ा जिला के कई क्षेत्रों में शनिवार शाम के समय बारिश हुई है।

किसानों बागवानों की बड़ी चिंता

प्रदेश में मौसम विभाग के अलर्ट से किसानों और बागवानों की चिंताएं बढ़ गई हैं। मैदानी क्षेत्रों में जहां गेहूं की फसल पकने लगी है, वहीं ऊंचाई वाले क्षेत्रों में सेब पर फूल आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: कर्मचारियों-पेंशनरों को 1 मई को वेतन के साथ आएगी DA की किस्त

अंधड़ और ओलावृष्टि से सेब बागवानों को काफी नुकसान होगा। वहीं बारिश से गेहूं की फसल के भी खराब होने से किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें दिखने लगी हैं।

पेज पर वापस जाने के लिए यहां क्लिक करें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments