Wednesday, July 17, 2024
spot_img
Homeहादसाहिमाचल का जवान पंचतत्व में विलीन, 18 साल के बेटे ने दी...

हिमाचल का जवान पंचतत्व में विलीन, 18 साल के बेटे ने दी चिता को मुखाग्नि

धीरा (कांगड़ा)। हिमाचल के कई युवा सेना की वर्दी पहन कर देश की सरहदों पर तैनात हैं। अब तक प्रदेश के कई जवानों ने ड्यूटी के दौरान शहादत भी पाई है। ऐसे ही एक और जवान प्रवीन कुमार की ड्यूटी के दौरान मौत हो गई है।

यह जवान प्रवीन कुमार हिमाचल के कांगड़ा जिला के उपमंडल धीरा का रहने वाला था। जवान की मौत की खबर जैसे ही उसके घर में पहुंची तो उसके परिजनों पर जैसे दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। वहीं पूरे गांव में मातम का माहौल बन गया।

कांगड़ा के धीरा के जवान की हार्ट अटैक से मौत

मिली जानकारी के अनुसार उपमंडल धीरा की ग्राम पंचायत नौरा का यह जवान प्रवीन कुमार एसएसबी में भर्ती हुआ था और मौजूदा समय में असम में तैनात था। असम में ड्यूटी के दौरान ही जवान की हार्ट अटैक से मौत हो गई।

बीते रोज जवान की पार्थिव देह उसके घर में लाई गई जहां पूरे सैन्य सम्मान के साथ जवान प्रवीन कुमार का अंतिम संस्कार किया गया।

असम में ड्यूटी के दौरान हुआ हार्ट अटैक

बताया जा रहा है कि प्रवीन कुमार सशस्त्र सीमा बल की 64वीं बटालियन में ब्रामा कैंप हॉली असम में तैनात था। 13 दिसंबरए 1979 को जन्में प्रवीन कुमार हेड कांस्टेबल के पद पर तैनात थे और इस समय वह मैस कमांडर के रूप में अपनी ड्यूटी दे रहे थे।

बताया जा रहा है कि शनिवार नौ मार्च को रात 10 बजे प्रवीन कुमार अपनी ड्यूटी के बाद सो गए, लेकिन 10 मार्च को सुबह वह अपने बिस्तर पर बेहोशी की हालत में पाए गए। उन्हें तुरंत ही अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। प्रवीण कुमार जून 2002 में सशस्त्र सीमा बल में भर्ती हुए थे।

परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़

बीते रोज मंगलवार को जवान की पार्थिव देह बटालियन के उपनिरीक्षक लोभी राम की अगुवाई में असम से सशस्त्र सीमा बल के केंद्रीय प्रशिक्षण केंद्र सपड़ी पहुंचाई गई। यहां से उनकी देह को उनके पैतृक गांव नौरा में लाया गया। जैसे ही जवान की देह उनके घर पर पहुंची, तो पत्नी सहित जवान के माता पिता और बच्चों की आंखों से झर झर आंसू बहने लगे।

बेटे ने दी पिता की चिता को मुखाग्नि

जवान को अंतिम यात्रा में क्षेत्र के भारी संख्या में लोगों ने पहुंचे हुए थे। नौरा के शवदाह गृह में जवान प्रवीन कुमार को नम आंखों से अंतिम विदाई दी गई। जवान की पार्थिव देह के साथ आए जवानों ने श्रद्धाजंलि अर्पित की।

जवान प्रवीन कुमार की चिता को उनके 18 साल के बेटे अभिषेक ने मुखाग्नि दी। बता दें कि प्रवीन के घर में उनके माता पिता के अलावा पत्नी, 18 साल का बेटा अभिषेक, 15 साल की बेटी अक्षरा हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments