Wednesday, July 24, 2024
spot_img
Homeहादसास्कूली बच्चों समेत 40 लोगों को ले जा रही HRTC बस लुढ़की:...

स्कूली बच्चों समेत 40 लोगों को ले जा रही HRTC बस लुढ़की: पेड़ ने बचाया

मंडी। हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों का क्या हाल हो रखा है, यह सच्चाई आज के वक्त किसी से भी छिपी नहीं है। आए दिन HRTC की खटारा बसों के खराब होने और उनके हादसों का शिकार होने की खबरें सामने आती रहती है। इसी कड़ी में अब ताजा खबर सूबे के मंडी जिले से सामने आई है। यहां स्थित मनुधार में HRTC की एक काफी पुरानी बस हादसे का शिकार हो गई।

बस में सवार थे स्कूली बच्चों समेत 40 लोग

सामने आई जानकारी के अनुसार जिस वक्त यह हादसा पेश आया, उस समय बस में करीब 40 यात्री सवार थे, जिसमें कुछ स्कूली छात्र-छात्राएं भी शामिल थीं। हादसे का शिकार हुई बस धर्मपुर डिपो की थी, जो धर्मपुर वाया मनुधार कमलाह ब्रैहल रूट पर जा रही थी। मगर जब बस मनुधार के पास पहुंची तो ड्राइवर का बस पर नियंत्रण छूट गया और वह सड़क से उतर किनारे की तरफ चली गई। बस के लुढ़कते ही सभी सवारियों के बीच अफरा-तफरी मच गई।

पेड़ नहीं होते तो पेश आता बड़ा हादसा

वहीं, बस सड़क से उतरने के बाद किनारे पर लगे पेड़ के सहारे टिककर रुक गई। घटनास्थल के आसपास मौजूद लोगों द्वारा बताया गया है कि अगर सड़क के किनारे पर पेड़ नहीं होते, तो आज बड़ा हादसा पेश आ सकता था। बहरहाल, इस हादसे में किसी भी सवारी के घायल होने की जानकारी सामने नहीं आई है, बस में सवार सभी लोग सुरक्षित बताए गए हैं। इन सभी सवारियों को हादसे के बाद दूसरी बस में बिठाकर गंतव्य के लिए रवाना किया गया।

उधर, हादसे का पता चलने के बाद मौके पर पहुंचे मैकेनिकल स्टाफ व आरएम धर्मपुर विनोद कुमार ने घटनास्थल की जांच पड़ताल की है और आगामी जांच के सम्बन्ध में आदेश भी जारी किए हैं। आरएम धर्मपुर विनोद कुमार ने हादसे की पुष्टि की है और इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि बस का टायर स्किड होने की वजह से यह हादसा पेश आया है, जिसमें किसी भी प्रकार के जान माल का नुकसान नहीं हुआ है।

HRTC की खराब बसें बनीं चिंता का सबब

आपको बता दें कि बीते कुछ दिनों से HRTC की खराब बसों के खराब होने के ढेरों मामले सामने आ रहे हैं। हाल ही में मंडी जिले के ही जोगिंदरनगर में एक HRTC बस के दोनों पिछले टायर खुलकर बाहर आ गए थे। जिसके बाद निगम द्वारा ड्राइवर की गलती बताते हुए उसे निलंबित कर दिया गया था। मगर इस तरह के हादसे प्रदेश सरकार के रवैये पर भी सवालिया निशान खड़े करते हैं कि यदि बसों की हालत में सुधार नहीं किया गया तो आगामी वक्त में कोई ना कोई बड़ा हादसा भी पेश आ सकता है।

पेज पर वापस जाने के लिए यहां क्लिक करें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments