Wednesday, July 24, 2024
spot_img
Homeअपराधहिमाचल: शिक्षा के मंदिर में हेडमास्टर ने दिव्यांग से किया अनर्थ, चौकीदार...

हिमाचल: शिक्षा के मंदिर में हेडमास्टर ने दिव्यांग से किया अनर्थ, चौकीदार भी…

नाहन। हिमाचल प्रदेश में महिलाओं और युवतियों के शारीरिक शोषण की बढ़ती घटनाएं चिंता का विषय बनती जा रही हैं। आज के दौर में प्रदेश की यह बेटियां अपने घर में भी सुरक्षित नहीं हैं। माता पिता अपनी बेटियों को स्कूल भेजने से भी कतराने लगे हैं। शिक्षा का मंदिर कहे जाने वाले स्कूलों में भी इस तरह की घिनौनी वारदातें होने लगी हैं। ऐसा ही एक मामला हिमाचल के सिरमौर जिला से सामने आया है। यहां शिक्षा के मंदिर में स्कूल के मुखिया (हेडमास्टर) और चौकीदार ने एक दिव्यांग के साथ दुष्कर्म कर दिया है।

नाहन में स्कूल में दिव्यांग से दुष्कर्म

मिली जानकारी के अनुसार यह मामला सिरमौर जिला के उपमंडल संगड़ाह के तहत आती एक माध्यमिक पाठशाला का है। यहां एक साल पहले तैनात हुई मूक-बधिर मल्टी टास्क वर्कर के साथ स्कूल के हेडमास्टर और चौकीदार ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। हालंाकि अभी तक यह खुलासा नहीं हुआ है कि दिव्यांग से एक ही बार दुष्कर्म किया गया है, या एक से अधिक बार उसकी आवरु लूटी गई है।

पीड़िता दिव्यांग स्कूल में है मल्टी टास्क वर्कर

दुष्कर्म की इस वारदात को फरवरी माह में अंजाम दिया गया था। क्योंकि पीड़िता बोल और सुन नहीं सकती, जिसके चलते पुलिस को मामला दर्ज करने में कठिनाई पेश आ रही है। पुलिस एक्सपर्ट की मदद ले रहे हैं, ताकि सांकेतिक भाषा का इस्तेमाल किया जा सके। वहीं पुलिस ने स्कूल के हेडमास्टर और चौकीदार को भी गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने दुष्कर्म आरोपियों को किया गिरफ्तार

बता दें कि मामला सामने आने के बाद उपमंडल के एक माध्यमिक विद्यालय के कार्यवाहक मुख्याध्यापक गंगा राम शर्मा व चौकीदार दौलत राम ने उच्च न्यायालय में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर कर दी थी। बीते रोज शुक्रवार को दोनों आरोपियों की हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत याचिका रद्द हो गई। जिसके बाद पुलिस ने कार्यवाहक मुख्याध्यापक गंगा राम शर्मा व चौकीदार दौलत राम को पूछताछ के लिए थाने में तलब किया और उसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

पीड़िता की एक साल पहले ही लगी थी नौकरी

बताया जा रहा है कि पीड़िता गत वर्ष से स्कूल में मल्टी टास्क वर्कर के रूप में कार्यरत है। मामला सामने आने के बाद पीड़िता के परिजनों ने इसकी शिकायत डीसी सिरमौर को सौंपी थी। इसके बाद पुलिस ने 24 फरवरी को विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया, लेकिन आरोपियों ने अग्रिम जमानत के लिए उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर दी थी।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: पिकअप-बाइक टक्कर में 19 वर्षीय युवक स्वर्ग सिधारा; पसरा मातम

पुलिस कर रही मामले की जांच

मामले की पुष्टि करते हुए डीएसपी संगड़ाह मुकेश डडवाल ने बताया कि आज यानी शनिवार को आरोपियों को न्यायालय में पेश किया जाएगा। इसके बाद आगे की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। वहीं दूसरी तरफ शिक्षा विभाग भी अपने स्तर पर कार्रवाई अमल में ला सकता है। हेडमास्टर सहित चौंकीदार को सस्पेंड किया जा सकता है। इसके साथ ही विभागीय जांच भी अलग से शुरू की जा सकती है।

https://www.facebook.com/news4himalayans

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments