Wednesday, July 17, 2024
spot_img
Homeयूटिलिटीनिलंबित HRTC चालक के पक्ष में आई ड्राइवर यूनियन, दे दी ये...

निलंबित HRTC चालक के पक्ष में आई ड्राइवर यूनियन, दे दी ये चेतावनी

शिमला। मंडी जिला के धर्मपुर में चलती बस के टायर खुलने के मामले में प्रबंधन ने चालक को निलंबित कर दिया है। एचआरटीसी प्रबंधन के इस फैसले पर अब एचआरटीसी ड्राइवर यूनियन ने एतराज जताया है और निगम प्रबंधन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। यूनियन के प्रधान मान सिंह ठाकुर चालक पर एक तरफा कार्रवाई का आरोप लगाते हुए आंदोलन तक की चेतावनी दे दी है।

बिना गलती के चालक को किया निलंबित

मान सिंह का कहना है कि पूरे हिमाचल में बस हादसों के लिए चालकों को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है और उनसे ही रिकवरी की जा रही है। धर्मपुर मामले में भी चालक को निलंबित करना गलत है, क्योंकि इसमें चालक की कोई गलती नहीं थी।

यह भी पढ़ें : HRTC बस का टायर खुला तो ड्राइवर हुआ निलंबित, जिसकी गलती उसे बचा रहे!

यदि बस के टायर खुलने के मामले में चालक की गलती है तो इसके लिए संबंधित डिपो का आरएम, डीएम और मैकेनिक भी जिम्मेदार हैं। उनके खिलाफ भी जांच बिठाई जानी चाहिए और कार्रवाई की जानी चाहिए।

टाटा की बस में लगाए लेलैंड के नट बोल्ट

मान सिंह ने कहा कि बस के टायर खुलने का कारण टाटा की बस में लेलैंड बस के नट रिकाबे लगाना है। जिसके लिए चालक को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता।

यह भी पढ़ें : हिमाचल: बाइक चोर पकड़ने आया था पुलिसकर्मी, अपनी ही बाइक को नहीं बचा पाया

चालक की सूझबुझ से ही एक बड़ा हादसा टला है। लेकिन प्रबंधन ने इसके बदले चालक को ही सस्पेंड कर दिया। जबकि इस मामले में जिम्मेदार लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

एक घंटे के सफर को 30 मिनट में पूरा करने दे रहे आदेश

वहीं मान सिंह ने चालकों को टार्चर करने के भी आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि एक घंटे के सफर के लिए 30 मिनट में पूरा करने के आदेश थोपे जा रहे हैं। बिना नॉलेज के लोगों को डीएम या डब्ल्यूएम लगाया जा रहा है। जो बिना सोचे समझे तरह तरह के आदेश थोप रहे हैं।

चालकों से की जा रही रिकवरी

चालकों से रिकवरी की जा रही है। डीजल की रिकवरी के लिए लेटर भेजे जा रहे हैं। बस के कलपुर्जे टूटने पर चालकों से पैसे मांगे जा रहे हैं। जो कि सरासर गलत है। यूनियन ने मांग की है कि ऑफिस में अन्य वर्ग की 50 फीसदी पोस्टें चालकों से भरी जाएं।

चालकों से भेदभाव नहीं करेंगे सहन

ऑफिस में अन्य वर्ग के कर्मचारियों को लगाया जा रहा है, जबकि चालकों के साथ भेदभाव किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि चालक भी पढ़े लिखे हैं, वह भी ऑफिस में काम कर सकते हैं। लेकिन प्रबंधन अपनी मनमानी कर रहा है।

निलंबित बस चालक को तुरंत किया जाए बहाल

यूनियन के प्रधान मान सिंह ने चेतावनी दी है कि अगर धर्मपुर बस हादसे में निलंबित किए बस चालक विशन दास को तुरंत बहाल नहीं किया गया तो आने वाले समय में यूनियन उग्र आंदोलन का रास्ता अपनाने को मजबूर हो जाएगी, जिसकी जिम्मेदारी एचआरटीसी निगम प्रबंधन की होगी।

यह भी पढ़ें: हिमाचल भाजपा के पूर्व MLA लड़ेंगे निर्दलीय चुनाव: ठोंकी ताल-मची खलबली

पेज पर वापस जाने के लिए यहां क्लिक करें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments