Wednesday, July 24, 2024
spot_img
Homeअव्यवस्थाहिमाचल के अस्पतालों में हाहाकार: सामूहिक अवकाश पर गए डॉक्टर्स- भटक रहे...

हिमाचल के अस्पतालों में हाहाकार: सामूहिक अवकाश पर गए डॉक्टर्स- भटक रहे हैं मरीज

शिमला। हिमाचल प्रदेश में हर कोई असंतुष्ट बैठा है। किसी को सत्ता नहीं मिल रही, तो किसी को सैलरी। किसी को नौकरी नहीं मिल रही, तो किसी को NPA। आज इसी NPA यानी नॉन प्रेक्टिस अलाउंस को बंद किए जाने से नाराज हिमाचल प्रदेश के सभी डॉक्टर्स सामूहिक अवकाश पर चले गए हैं। यानी मरीज अस्पताल में भर्ती हैं और उनकी खोज खबर लेने वाला अस्पताल में कोई डॉक्टर नहीं है।

डॉक्टर्स के अस्पताल ना पहुंचने के कारण पूरे प्रदेश में मेडिकल सेवाएं प्रभावित हुई हैं और मरीजों को प्राइवेट अस्पताल का रुख करना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि दूरस्थ इलाकों में रहने वाले लोगों को तो डॉक्टर्स की स्ट्राइक के बारे में पता भी नहीं था। ऐसे में वे लोग यहां-वहां अस्पतालों में भटकने को मजबूर हो गए हैं।

स्ट्राइक पर क्यों गए हैं 2600 डॉक्टर
आपको बता दें कि प्रदेश के लगभग 2600 डॉक्टर सुक्खू सरकार द्वारा NPA (नॉन प्रेक्टिस अलाउंस) बंद किए जाने से नाराज चल रहे हैं। प्रदेश सरकार ने आर्थिक तंगी की वजह से नई नियुक्तियां पाने वाले डॉक्टर्स का NPA बंद किया है, जबकि पहले से तैनात डॉक्टरों NPA का लाभ लगातार दिया जा रहा है।

इसी कारण से नई नियुक्तियां पाने वाले डॉक्टर्स नाराज हैं और आज उन्होंने सरकार के खिलाफ बड़े स्तर पर मोर्चा खोल दिया है। गौर रहे कि ये डॉक्टर्स पहले भी इस तरह की स्ट्राइक कर चुके हैं। मगर सीएम सुक्खू द्वारा आश्वासन दिए जाने के बाद इन लोगों ने अपनी हड़ताल रोक दी थी। इसके बावजूद भी अबतक NPA की बहाली नहीं हो सकी है।

कल भी है अस्पताल में छुट्टी
उधर, इस बार की स्ट्राइक की वजह से अब अस्पताल में परेशानी झेल रहे मरीजों और तामीरदारों के बीच भी सरकार और स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ गुस्सा पनपने लगा है। साथ ही कल महाशिवरात्रि होने के कारण अस्पतालों में अवकाश भी है। इस कारण से मरीज कल का ख्याल कर के भी परेशान हो रहे हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments