Thursday, July 18, 2024
spot_img
Homeहादसाहिमाचल: 8 साल के बच्चे का घुट रहा था दम, माता-पिता के...

हिमाचल: 8 साल के बच्चे का घुट रहा था दम, माता-पिता के सामने थम गई सांसें

ऊना। हिमाचल के ऊना जिला में एक आठ साल के बच्चे की मौत हो गई है। यह बच्चा माता पिता की इकलौती संतान था। अपने इकलौते लाडले बेटे की मौत की खबर सुनते ही माता पिता बेसुध हो गए। बच्चे की मौत अस्पताल में उपचार के दौरान हुई। इस बच्चे को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। लेकिन चिकित्सकांे के प्रयास के बाद भी बच्चे को बचाया नहीं जा सका।

ऊना अस्पताल में बच्चे की मौत
मामला ऊना जिला के क्षेत्रीय अस्पताल ऊना से सामने आया है। बच्चे की मौत से पूरे अस्पताल में माहौल गमगीन हो गया। बच्चे की मौत से पूरे अस्पताल में चीखो पुकार मच गई। बेटे की मौत के बारे में सुनकर माता.पिता अस्पताल के आपात वार्ड से परिसर तक विलाप करते दिखे। इस दौरान माहौल काफी संवेदनशील हो गया। होमगार्ड जवानों ने सहज तरीके से बिगड़ी स्थिति को संभालने का प्रयास किया।

बच्चे की जूस पिलाने के बाद बिगड़ी हालत
बताया जा रहा है कि ऊना के वार्ड सात निवासी प्रकुल के परिजन उसे गंभीर हालत में क्षेत्रीय अस्पताल ऊना लेकर पहुंचे थे। यहां पर चिकित्सकों ने उसे उपचार देना शुरू किया। प्रकुल को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। टेस्ट आदि करवाए जाने के दौरान परिजनों ने प्रकुल को जूस पिलाया। जूस पीने के बाद प्रकुल की एकदम से हालत बिगड़ गई।

जूस पिलाने के कुछ ही देर में हुई मौत
कुछ ही देर में बच्चे की हालत गंभीर हो गई और चंद क्षणों में प्रकुल की मौत हो गई। हालांकि मौके पर मौजूद चिकित्सकों ने बच्चे को बचाने का भरसक प्रयास किया, लेकिन कामयाब नहीं हो पाए। बताया जा रहा है कि प्रकुल पिछले चार से पांच दिन से बीमार था। परिजन उसे पहले ऊना के एक निजी शिशु रोग चिकित्सक के पास ले गए थे, लेकिन दवाई लेने के बाद भी उसके स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हो रहा था।

सांस लेने में हो रही थी तकलीफ
इसी बीच उसकी तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर उसे परिजन क्षेत्रीय अस्पताल ऊना लेकर पहुंचे। यहां पर इमरजेंसी में इलाज के दौरान प्रकुल की मौत हो गई। मामले की जानकारी देते हुए क्षेत्रीय अस्पताल ऊना के आपात वार्ड में तैनात चिकित्सक डॉ कर्ण ने बताया कि गंभीर हालत में परिजन बच्चे को लेकर अस्पताल पहुंचे थे। बच्चे की सांस की नली में कुछ फंस गया था।। डॉक्टरों के भरसक प्रयास के बाद भी बच्चे को बचाया नहीं जा सका।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments