Friday, July 19, 2024
spot_img
Homeराजनीतिहंस राज बने मिसाल: BJP विधायक ने किए इतने सारे ऐलान कि...

हंस राज बने मिसाल: BJP विधायक ने किए इतने सारे ऐलान कि मंत्री भी शरमा जाए

चंबा हिमाचल प्रदेश के सांस्कृतिक रूप से समृद्ध जिलों में से एक है। यहां के मेले, जातर, नवाला, और दंगल जैसे उत्सवों मने भाग लेने के लिए देश विदेश से लोग आते हैं।

उपमंडल चुराह के भंजराडू में आज से तीन दिवसीय महादंगल मेला (चुराह महोत्सव) का आगाज हुआ है। यह कई मेला चुराह क्षेत्र का सांस्कृतिक मंच भी है और आयोजन के दौरान बतौर मुख्य अतिथि बड़े बड़े नेताओं के आने के परम्परा की वजह से राजनीतिक रूप से भी काफी अहम माना जाता है।

स्थानीय विधायक डॉ हंस राज ने इस मेले के दौरान क्षेत्र के विकास को लेकर कई अहम घोषणा की। आने वाली पीढ़ी के उज्जवल भविष्य को लेकर एक रोडमैप का जिक्र उन्होंने अपने भाषण के दौरान किया।

यहां पढ़ें महत्वपूर्ण ऐलान

  • चुराह क्षेत्र में पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से एक मुहीम के तहत पौधारोपण का कार्य किया जाएगा। प्रत्येक पंचायत को काम शुरू करने के लिए विधायक निधि से 5-5 लाख रुपए वह देंगे।
  • कक्षा 10वीं ,और 12वीं के परीक्षा परिणाम में स्टेट की टॉपर लिस्ट में आने वाले चुराह क्षेत्र के छात्र छात्राओं को एक लाख रुपए की इनामी राशि के साथ सम्मानित किया जाएगा।
  • चुराह का कोई भी विद्यार्थी यदि सिविल सर्विसेस की प्रतियोगी परीक्षा जैसे HAS, IPS, IAS, HFS आदि की प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करता है तो उसे दो लाख रुपए के साथ नयुक्ति तक तमाम खर्च वहन किया जाएगा।
  • विधायक हंस राज ने लोगों को आश्वस्त करते हुए कहा कि चुराह में विकास कार्य रुक गए हैं। हम विकास के कार्य में पीछे नहीं रहें। इसलिए अब स्वयं के स्तर से हम सभी को प्रयास करने होंगे।

सुक्खू सरकार पर लगाया अन्याय का आरोप

डॉ हंस राज ने आगे कहा कि चुराह का बिजली बोर्ड मण्डल बंद करना सरकार द्वारा हमारे साथ अन्यायपूर्ण व्यवहार है। चुराह के दुर्गम क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति वाधित होने के कारण बच्चों की शिक्षा पर काफी प्रभाव पड़ता है। भाजपा सरकार के समय खोले गए संस्थानों को मौजूदा कांग्रेस सरकार ने बंद कर चुराह क्षेत्र को अपाहिज बनाने का काम किया है।

यह भी पढें: आयुर्वेदिक दुकानदार ने कहा पैसे डबल कर दूंगा: एक ही आदमी ने 32 लाख दे दिए

चुराह में थाना प्रभारी के न होने के कारण यहां की सुरक्षा व्यवस्था चरमराई हुई है। चुराह के सिविल अस्पताल में अब 17 में से मात्र तीन ही डॉक्टर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में हो सकता है कि हमें यह अस्पताल बंद ही देखने को मिले।

कार्यक्रम में नहीं पहुंचे अनुराग ठाकुर

वहीं, इस बार का चुराह महोत्सव को लेकर चर्चा तेज थी कि पूर्व केंद्रीय मंत्री और हमीरपुर से सांसद अनुराग ठाकुर बतौर मुख्य अतिथि आयेंगे। लेकिन अनुराग ठाकुर आज कार्यक्रम में नहीं पहुंचे।

यह भी पढें: दूध के बाद हिमाचल में बढ़े घी के दाम : जानें, मिल्कफेड ने कितना रेट बढ़ाया

विधायक हंस राज ने इस विषय में जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश में हो रहे तीन सीटों पर उपचुनाव को लेकर आज मतदान है। इसी कारण कुछ व्यस्तताओं को लेकर उनका आना संभव नहीं हो पाया। उन्होंने आश्वस्त किया है कि जल्द ही वह चुराह आयेंगे और यहां के लोगों से मिलेंगे।

बुनियादी सुविधाओं के अभाव से जूझता चुराह : हंसराज बने सहारा

गौरतलब है कि चुराह हिमाचल प्रदेश का आकांक्षी ब्लाक/उपमंडल है। इस इलाके में कई बुनियादी सुविधाओं का अभाव रहा है। विधायक हंस राज का कहना है कि पिछले पांच वर्ष में उन्होंने २५० के करीब सड़कें बनाई। कॉलेज, स्कूल, सब जज कोर्ट, डिविजन समेत कई संस्थाएं खोली।

यह भी पढें: मौसम की नई अपडेट: इन 8 जिलों के लिए अलर्ट जारी, हफ्ते भर मौसम खराब- जानें

दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र होने के बावजूद चुराह जिला चंबा और हिमाचल प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत को संजोए रखा है। चुराह में भले ही आधुनिक मोटरएबल सड़कों का अभाव हो लेकिन जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है जम्मू कश्मीर के साथ लगती इस सीमावर्ती क्षेत्र से चार प्रमुख दिशा के क्षेत्र के लिए रास्ता जाता है। सायद यही कारण है कि इस क्षेत्र का नाम चुराह रखा गया हो।

पेज पर जाने के लिए यहां क्लिक करें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments