Thursday, July 18, 2024
spot_img
Homeअपराधहिमाचल पुलिस ने मांगी फिरौती! वो भी पूरे 2.50 लाख रुपए- जानें...

हिमाचल पुलिस ने मांगी फिरौती! वो भी पूरे 2.50 लाख रुपए- जानें पूरा मामला

मंडी। हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी में चिट्टा मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इसमें संलिप्त शिक्षक ऋषिराज की मौत के बाद मामले की न्यायिक जांच करवाई जा रही है। मृतक ऋषिराज के पिता बलबीर सिंह ने पुलिस पर फिरौती के रूप में 2.50 लाख रुपए रिश्वत मांगने के आरोप लगाए हैं और सीबीआई जांच करने की मांग उठाई है।

पिता ने पुलिस पर उठाए सवाल

बलबीर का आरोप है कि उनकी बेटे के मौत का मामला फिरौती से जुड़ा हुआ है। उनका कहना है कि पुलिस हिरासत में उनका बेटा नदी में कैसे गिर गया और चार दिन तक क्यों कोई छानबीन नहीं की गई। ना ही पुलिस द्वारा उन्हें सूचिक किया गया।

बेटे के छुड़ाने के लिए देने होंगे 2.50 लाख रुपए

ऋषिराज के पिता बलवीर सिंह का कहना है कि 2 अप्रैल को रात करीब 9.30 बजे एक व्यक्ति ने उनके घर आकर उन्हें एक नंबर दिया। व्यक्ति ने उनसे कहा कि यह पुलिस का नंबर है और इस पर वह संपर्क कर लें। इसके बाद जब उन्होंने उस पर नंबर पर फोन किया तो उन्हें बताया गया कि उनका बेटा उनके पास है और उसे छोड़ाने के लिए 2.50 लाख रुपए देने होंगे।

शाम को घर पर हुई थी बात

बलवीर सिंह का कहना है कि उस दिन ऋषिराज अपने घर पर था। शाम को 5 बजे राहुल उसे स्कूटी पर अपने साथ बैठा कर ले गया। इसके बाद शाम करीब 7 बजे उनकी बहु की ऋषिराज से बात हुई तो उसने बताया था कि वह घर आ रहा है। मगर वह काफी देर तक घर नहीं आया और उसका फोन भी बंद हो गया।

यह भी पढ़ें: हिमाचल वासी ध्यान दें: 7 दिन में से 5 दिन बंद रहेंगे दफ्तर- देखें छुट्टी की लिस्ट

उन्होंने बताया कि 3 अप्रैल को सुबह उनकी दोबारा फोन पर एक व्यक्ति से बात हुई, जिसने उन्हें पूरे पैसे लेकर बगला आने को कहा। जैसे वह वहां पहुंचे तो उन्होंने देखा कि वहां कोई नहीं था और वो फोन नंबर भी ऑफ आ रहा था। इसके बाद 5 अप्रैल को उन्हें पुलघराट के पास ऋषिराज का शव मिलने की सूचना मिली।

आरोपों की जाएगी जांच

वहीं, पुलिस अधीक्षक साक्षी वर्मा का कहना है कि ऋषिराज के पिता के आरोपों की जांच की जाएगी। गौरतलब है कि 2 अप्रैल को पुलघराट के पास ऋषिराज और उसके साथी राहुल से 12.66 ग्राम चिट्टा बरामद किया गया था। इसी दौरान वह अंधेरे का फायदा उठाते हुए पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए थे और सुकेती खड्ड में कूद गए थे।

यह भी पढ़ें: हिमाचल का लाल: बिना मां-बाप का बेटा खेल रहा नेशनल, है गंभीर बीमारी

इसके बाद घेराबंदी करके राहुल पुलिस के हत्थे चढ़ गया, लेकिन ऋषिराज का कुछ पता नहीं चल पाया था। इसके बाद 5 अप्रैल को उसका शव खड्ड से बरामद हुआ है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments