Thursday, July 18, 2024
spot_img
HomeUncategorizedशिमला में 9 पूर्व विधायकों का जोरदार स्वागत, बोले-वेंटिलेटर पर है कांग्रेस

शिमला में 9 पूर्व विधायकों का जोरदार स्वागत, बोले-वेंटिलेटर पर है कांग्रेस

शिमला। हिमाचल के 9 पूर्व विधायकों ने बीते रोज दिल्ली में बीजेपी ज्वाइन कर ली। इसके बाद वह देर शाम को शिमला लौटे। करीब 25 दिन हिमाचल से बाहर रहने के बाद अब यह सभी 9 पूर्व विधायक बीजेपी का चोला पहन कर शिमला पहुंचे। इस दौरान इनका शिमला में इनका जोरदार स्वागत किया गया। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने शिमला में ढोल नगाड़ों और जोरदार नारों के साथ सभी 9 पूर्व विधायकों का स्वागत किया। इन 9 विधायकों के साथ ही नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राजीव बिंदल भी शिमला पहुंचे।

पीटरहाॅफ में हुआ जोरदार स्वागत

शिमला के पीटरहाॅफ होटल में बीजेपी ने इन 9 पूर्व विधायको के सम्मान में एक कार्यक्रम का आयोजन किया था। जहां इनका भव्य स्वागत किया गया। जिसके बाद सभी 9 नेताओं ने मीडिया को संबोधित किया और बीजेपी पार्टी के साथ पीएम मोदी पर विश्वास जताया। वहीं सभी नेताओं ने सीएम सुक्खू पर भी जमकर हमला बोला।

कांग्रेस सरकार में विधायकों को किया जा रहा अपमानित

राजेंद्र राणा ने कहा कि कांग्रेस सरकार में विधायकों को अपमानित किया जा रहा है। जनता ने वोट देकर जन प्रतिनिधि चुने थे, ताकि वह उनके काम कर सकें। लेकिन विधायक क्षेत्र के विकास कार्य तक नहीं करवा पा रहे थे। जब भी लोग गारंटियों के बारे में पूछते तो हमें अपने मुंह छिपाने पड़ते। उन्होंने कहा कि व्यक्ति हर चीज से समझौता कर सकता है, लेकिन अपने स्वाभिमान से समझौता नहीं कर सकता।

राजेंद्र राणा बोले कई अन्य कांग्रेसी विधायक भी उनके संपर्क में

वहीं राजेंद्र राणा ने एक बड़ा खुलासा भी किया है। उन्होंने कहा कि सुक्खू सरकार से कई अन्य विधायक भी परेशान हैं। आने वाले दिनों में यह विधायक भी पार्टी छोड़ सकते हैं। काग्रेस सरकार से परेशान कई विधायक उनके संपर्क में हैं।

यह भी पढ़ें: 9 सीटों के उपचुनाव सुक्खू सरकार का तय करेंगे भविष्यए मोदी लहर बढ़ाएगी मुश्किलें

इन विधायकों का कांग्रेस में दम घुट रहा है और वह जल्द ही पार्टी छोड़ेंगे। वहीं नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राजीव बिंदल ने सभी 9 पूर्व विधायकों का बीजेपी में स्वागत किया।

पार्टी बदलने का फैसला एक दिन का नहीं

वहीं सुधीर शर्मा ने कहा कि सभी नेताओं ने पार्टी बदलने का जो फैसला किया वह एक दिन में लिया हुआ फैसला नहीं है। कांग्रेस की सरकार ने सभी नेताओं को इतना परेशान कर दिया था कि इन सभी को अपनी सदस्यता दांव पर लगाने के लिए विवश होना पड़ा।

https://www.facebook.com/news4himalayans

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments