Thursday, July 18, 2024
spot_img
Homeराजनीतिवीरभद्र सिंह के एक और करीबी बने भाजपाई: हर्ष महाजन ने किया...

वीरभद्र सिंह के एक और करीबी बने भाजपाई: हर्ष महाजन ने किया बड़ा खेल

शिमला। हिमाचल प्रदेश में लोकसभा के चुनाव करीब आते ही राजनीतिक दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंकना शुरू कर दी है। एक-दूसरे के दलों में सेंधमारी कर अपने दल को मजबूत बनाया जा रहा है।

इस कड़ी में अब प्रदेश की राजधानी शिमला से एक बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है, जहां चौपाल से कांग्रेस के दिग्गज नेता पूर्व विधायक रहे सुभाष चंद्र मंगलेट ने भाजपा का दामन थाम लिया है। उन्होंने भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और राज्यसभा सांसद हर्ष महाजन की मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल की बेटी विभूति ठाकुर बनी लेफ्टिनेंट: पति भी सेना में दे रहा सेवाएं

हर्ष महाजन एक्टिव मोड में

सूत्रों के अनुसार सुभाष चंद्र मंगलेट को भाजपा में शामिल करने वाले मास्टर माइन्ड राज्यसभा सांसद हर्ष महाजन हैं। हर्ष महाजन राज्यसभा सांसद बनने के बाद अपनी पूरी ताकत से हिमाचल प्रदेश को कांग्रेस मुक्त करने के लिए जुटे हुए हैं।

28 साल की उम्र में विधायक बने थे सुभाष

विदित रहे सुभाष चंद्र पहली बार साल 2003 में मात्र 28 वर्ष की आयु में निर्दलीय विधायक बने थे। उसके बाद उन्होंने कांग्रेस का दामन थाम लिया था और वीरभद्र के करीबी माने जाते थे। सुभाष सामाजिक एवं धार्मिक कार्यां से जुड़े हुए हैं। उनके द्वारा प्रदेश में 3 व प्रदेश के बाहर एक धार्मिक आश्रम बनवाया गया है।

यह भी पढ़ें: कंगना का नामंकन आज: कई दिग्गज रहेंगे साथ- भारी रोड शो की तैयारी

कांग्रेस में बड़े पदों पर रहे हैं सुभाष

सुभाष ने कांग्रेस में रहते हुए पूर्व राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के टीम में कई बड़े पदों पर अपनी सेवाएं दी हैं। पूर्व कांग्रेस सरकार में सुभाष मार्केंटिंग बोर्ड के चेयरमैन भी रह चुके हैं। इसके अलावा सुभाष ऑल इंडिया एग्रीकल्चर मार्केंटिंग बोर्ड के अध्यक्ष पद का पदभार संभाल चुके हैं।

2022 में बिगाड़ा था कांग्रेस का खेल

साल 2022 में जब सुभाष कांग्रेस पार्टी से चुनाव लड़ना चाहते थे तो उनकी जगह पार्टी ने प्रदेश कांग्रेस के संगठन महासचिव रजनीश किमटा को मैदान में उतारा था।

इसके बाद मंगलेट ने हिमाचल कांग्रेस प्रभारी राजीव शुक्ला पर भी कई गंभीर आरोप लगाए थे और आजाद उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा था। जिससे उन्होंने सारे समीकरण बदल दिए थे। जहां भाजपा प्रत्याशी को 25 हजार 873 वोट, कांग्रेस प्रत्याशी को 20 हजार 840 वोट मिले थे। वहीं मंगलेट ने भी 13 हजार 706 वोट हासिल किए थे और कांग्रेस प्रत्याशी रजनीश किमटा का खेल बिगाड़ दिया।

भाजपा में शामिल होते यह बोले मंगलेट

भाजपा में शामिल होते ही सुभाष चंद्र मंगलेट ने कहा कि वे प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में और राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा के मार्गदर्शन से देश के विकास एवं पार्टी की मजबूती के लिए सदैव तत्पर रहेंगे। उधर, भाजपा के दिग्गजों ने कहा कि सुभाष मंगलेट के बीजेपी में आने से लोकसभा चुनाव में चौपाल विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी को मदद मिलेगी।

पेज पर जाने के लिए यहां क्लिक करें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments